Home / स्वर्णिम सिद्धांत / आपकी आधी सफलता आपके संगत से तय होता है

आपकी आधी सफलता आपके संगत से तय होता है

आप किसे अपना करीबी मित्र या सहयोगी बनाते हैं या आपके जीवन का बहुत महत्वपूर्ण निर्णय साबित हो सकता है, आप आज जो है 5 साल बाद भी वही रहेंगे, सिर्फ दो ही चीजों से आप बदल सकते हैं, जिनके साथ आपके घनिष्ठ संबंध है और जो पुस्तकें आप पढ़ते हैं, बाइबल कहती है कि अगर आप समझदार लोगों की संगत में रहते हैं तो आप भी समझदार बन जाएंगे, लेकिन मूर्खों की संगत में रहने वाला व्यक्ति बर्बाद हो जाएगा। जिस प्रकार के लोगों के साथ आप रहेंगे आप उन्ही जैसा बन जाएंगे।

 

आपके मित्र आपके आंगन के दरख्तों की तरह है कई बार वे आपको सहारा देंगे कई बार वे आपको छाया देंगे, कई बार तो इतना जानना ही काफी है, कि दृढ़ता से आपके पास खड़े हैं। लोहा लोहे पर धार करता है, इसी तरह से मित्र अपने मित्र के व्यवहार पर धार करता है, सच्चा मित्र वह होता है जो आपकी मूर्खताओं को भुलाने में आपकी मदद करता है। अच्छी मित्रता हमारी खुशी को कई गुना बढ़ा देती है, और हमारे दुख को कम करती है।

 

मैंने पाया है कि आपके सबसे अच्छे मित्र वे होते हैं, जो आपके सर्वश्रेष्ठ स्वरूप को बाहर लाते हैं, सच्चा मित्र वह व्यक्ति है जो उस समय भी आपके साथ रहता है जब उसे कहीं और रहने पर ज्यादा लाभ हो सकता है। मित्र हर समय प्रेम करता है और विपत्ति के समय में भाई की तरह साथ देता है, मेरा मानना है कि हमें अपनी मित्रता को हमेशा मजबूत करते रहना चाहिए।

 

अच्छा मित्र तब तक आपके रास्ते में नहीं आता है जब तक कि आप नीचे की तरफ नहीं जा रहे हो, अच्छा मित्र वह है जो तब भी आपके साथ देता है जब बाकी सब आपका साथ छोड़ चुके होते हैं, अच्छे मित्र हैं जिनके साथ आप अपने अच्छे सच्चे स्वरुप में रहने का साहस कर सकते हैं, मित्र वह होता है जिसे आप बेझिझक अपने सपने बता सकते हैं, मेरे सबसे अच्छे मित्र वे है, जो मेरे अतीत को समझते हैं, मेरे भविष्य में विश्वास करते हैं, और मेरे वर्तमान स्वरुप को ज्यों का त्यों स्वीकार करते हैं।

 

अच्छे मित्रों के विपरीत गलत किस्म के मित्र आपके सर्वश्रेष स्वरूप के बजाय निकृष्टतम स्वरूप को बाहर लाते हैं, आप जानते हैं कि मैं किस किस्म के लोगों के बारे में बात कर रहा हूं, यह लोग सूरज की रोशनी को रोक लेते हैं और निराशा फैलाते रहते हैं, यह लोग हमेशा दर्जनों कारण गिनाते रहते हैं कि आप अपना मनचाहा काम क्यों नहीं कर सकते, उनकी बातों पर ध्यान न दें. किसी अविश्वसनीय व्यक्ति पर विश्वास करना दुख रहे दांत से कुछ चबाने की तरह है, या टूटे हुए पैर से दौड़ने की कोशिश करने की तरह है।

 

गलत मित्रों से 1 दिन दूर रहना देहात की खुली हवा में एक महीना बिताने के समान होता है, मार्क ट्वेन ने लिखा है उन लोगों से दूर रहें, जो आपकी महत्वकांक्षाओं को छोटा करने की कोशिश करते हैं, छोटे लोग हमेशा यही करते हैं, लेकिन जो लोग सचमुच महान होते हैं वह आपको यह महसूस कराते हैं कि आप भी महान बन सकते हैं, ऐसे व्यक्ति को कभी अपना साथी ना बनाएं जो आप को अंधेरे में धकेल दे।

 

सच्चा मित्र आपकी कमजोरी के प्रति सहानुभूति नहीं दिखाता है वह शक्तिशाली बनने में आपकी मदद करता है दूसरी तरफ संबंधों की बुनियाद समान रुचियों या सारी समस्याएं होती है संबंध और मित्रता के फर्क को अच्छी तरह से समझ लें।

 

मित्र वह व्यक्ति होता है जो आपकी सारी हकीकत जानने के बावजूद आपको पसंद करता है अपने मित्रों के प्रति वैसा ही व्यवहार करें जैसा आप अपनी सबसे अच्छी तस्वीर के साथ करते हैं, उन्हें रोशनी में रखें बाकी लोग आपको मझधार में छोड़कर चल देंगे, लेकिन सच्चा मित्र आपको हमेशा मंजिल तक पहुंचाएगा, मित्रता हृदय का संप्रेषण है अच्छे और बुरे दोनों तरह के जहाज होते हैं, लेकिन मित्रता सबसे अच्छा जहाज है।

ये भी जरुर पढ़ें:

कार लेने से पहले ये कुछ खास बातों को जान लें आप

घर बैठे ये शानदार पार्ट-टाइम जॉब्स

ये दस्ताबेज रखे साथ, सभी सरकारी काम होंगे आसान

ये शानदार पार्ट टाइम जॉब्स, आपके लिए आसान टिप्स

रेल टिकट बुकिंग अब एटीएम के द्वारा भी संभव

पुराने नोट रखना बना कानूनन जुर्म

कुंवारे लड़कों को भाभियाँ ज्यादा पसंद आती है क्यों?

स्वामी दयानंद सरस्वती एक महान पुरुष – लेटेस्ट जानकारी

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply