Home / स्वास्थ / यात्रा के दौरान वोमिटिंग हो तो करें आसान घरेलू उपाय

यात्रा के दौरान वोमिटिंग हो तो करें आसान घरेलू उपाय

अगर आप बस में सफर करते है तो यात्रा के दौरान उल्टी के लिए दबाव बहुत सारे लोगों को उल्टी या मितली की शिकायत रहती है जिससे सफर का वह सारा मजा खराब हो जाता है कई बार आपके साथ गए रिश्तेदार या मित्र भी इसे खीझना शुरु हो जाते हैं जिसके कारण सफर का मूड ही ऑफ हो जाता है.

अगर किसी व्यक्ति को सफर के दौरान उल्टी की शिकायत रहती है तो यहां कुछ उपायों को पढ़कर अपनी इस बीमारी से हमेशा के लिए छुटकारा पाकर सफर का लुफ्त उठा सकते हैं.

उल्टी बंद करने के उपाय

(1) सफर पर जाने से पहले घर से भुजी लौंग को पीसकर डब्बे में बंद कर ले यदि उल्टी का मन हो तो सिर्फ एक चुटकी मात्रा में काले नमक के साथ खा ले.

(2) कई लोगों को यात्रा के दौरान सिर घूमने की परेशानी रहती है जिससे मन उल्टी जैसा बन जाता है ऐसे में नींबू को काले नमक के साथ चवा लेने से उल्टी का मन नहीं होगा.

(3) तुलसी के पत्तों को साथ रखने से उल्टी रुक जाती है.

(4) आप एक बोतल में पुदीने का रस साथ लेकर जा सकते हैं और उल्टी का मन होने पर काले नमक के साथ थोड़ा-थोड़ा पी सकते हैं.

(5) सफर के दौरान कई लोग डॉक्टर से उल्टी बंद करने की दवा भी साथ लेकर जाते हैं इससे वह सफर के बीच में खा लेते हैं.

(6) कई लोग सफर से पहले एक चम्मच प्याज के रस में अदरक का रस मिलाकर पी लेते हैं जिससे बाद में उल्टी नहीं होती है यदि लंबा सफर है तो आप इसे साथ लेकर भी जा सकते हैं.

(7) सफर पर जाने से पहले आप आधा चम्मच जीरा पाउडर को गुनगुने पानी में मिलाकर पिएं या लंबे सफ़र पर साथ लेकर ही जाए.

नोट: यह है उल्टी बंद करने के उपाय तो आपने आज यह जाना की यात्रा के दौरान कैसे उल्टी से छुटकारा पाया जा सकता है इससे ना आपका मूड खराब होगा और ना आपके साथ सफर करने वालों का, आप हमेशा खुश रहें आपकी खुशी में हमारी खुशी है.

source

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

Check Also

helth is weilth

जानकारी खास है, खुद से करें ये 10 वादे, बीमारियां रहेंगी दूर

अपनी सेहत का खास ध्यान रखना तो हमारी अपनी ही जिम्मेदारी है। तो फिर क्यों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *