Home / ज्ञानवर्धक कहानियाँ / गीता में कृष्ण का उपदेश – Teaching of Krishna in the Bhagavad Gita

गीता में कृष्ण का उपदेश – Teaching of Krishna in the Bhagavad Gita

गीता में श्रीकृष्ण फरमाते हैं –

फल की अभिलाषा छोड़कर निरंतर कर्त्तव्य कर्म करो। जो फल की अभिलाषा छोड़कर कर्म करते हैं उन्हें अवश्य मोक्षपद प्राप्त होता हैं।

 

फल की आशा ह्रदय में रखकर किया गया सत्कर्म अपनी गरिमा को खो देता हैं। यह तो धर्म में भी दुकानदारी का प्रतीक हैं। फलाकान्क्षा लोभी ह्रदय की आकांक्षा हैं , और लोभ कभी धर्म नहीं हो सकता। इसीलिए कहा गया हैं – मानव ! तू निष्काम कर्मा बन !

 

बौद्ध धर्म के एक प्रख्यात संत हुए हैं बोधिधर्म। एक बार वे चीन गए। चीन में बौद्ध धर्म का बहुत प्रचार हुआ था। चीन का शासक स्वयं बौद्ध था और वह तन – मन – धन  से बौद्ध के प्रचार में जुटा था।

 

बोधिधर्म से उस सम्राट ने कहा – भंते ! मैंने बौद्ध धर्म का बहुत प्रचार किया हैं , बहुत सेवा की हैं। पचासों बौद्ध मंदिर बनवाये हैं , अनेकों विहार बनवाये हैं। अनाथाश्रम और चिकित्सालय बनवाये हैं। तो मुझे स्वर्ग में क्या मिलेगा ?

 

बोधिधर्म बोले – कुछ नहीं ! सम्राट बोधिधर्म का उत्तर सुनकर चौंक गया। उसने पूछा – भंते ! मैंने तथागत के वचनों के प्रसार के लिए गाँव – गाँव , नगर – नगर उपदेशक भेजे हैं , त्रिपिटकों की सैकड़ों प्रतियां लिखवाकर श्रद्धालुओं में बांटी हैं। क्या इसका कुछ भी परिणाम मुझे नहीं मिलेगा ?

बोधिधर्म का वही संक्षिप्त उत्तर था – नहीं राजन !

 

सम्राट खीझ गया। वह बोला – तो मुझे वह विधि बताइये जिसके करने से कुछ मिलेगा ? बोधिधर्म बोले – सम्राट ! तुम्हारी सोच लोभी चित्त की सोच हैं। तुम जो कर रहे हो , तुम्हारे पास उसका सम्पूर्ण हिसाब – किताब हैं , लेकिन धर्म दुकानदारी नहीं हैं।

 

न ही धर्म गणित हैं। बेहिसाब हैं धर्म तो। सत्य और शील को जीवन में  धारण कीजिये राजन ! निष्काम भाव से कर्म कीजिये। लोभ – विवर्जित चित्त से की गयी क्रियाएं ही महान फल और कल्याण देने वाली होती है।

सम्राट को समाधान मिल गया।

ये भी जरुर पढ़ें:

श्वसन संबंधी रोग के कारण एवं उपचार
तीव्र वृक्क शोथ के घरेलू उपचार एवं कारण और लक्षण
तिल्ली वृद्धि के घरेलू चिकित्सा
यकृत ( जिगर में वृद्धि )
पीलिया का आयुर्वेदिक उपचार – jaundice
अपेंडिसाइटिस का घरेलू उपचार – Appendicitis
अर्श या बवासीर का घरेलू उपचार

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply