Home / स्वर्णिम सिद्धांत / तरीका बदले लेकिन रुकें नहीं

तरीका बदले लेकिन रुकें नहीं

जब आप बदलना खत्म कर देते हैं तो आप भी खत्म हो जाते हैं ज्यादातर लोग जिंदगी में इसलिए असफल होते हैं क्योंकि वह बदलना नहीं चाहते। लेकिन सच बात यह है कि सुधार और परिवर्तन का फल हमेशा मीठा होता है मानव जाति को तीन वर्गों में बांटा जा सकता है। वह लोग जो बदल नहीं सकते दूसरा वे लोग जो बदल सकते हैं और तीसरा वे लोग जो बदलाव का कारण बनते हैं। परिवर्तन लिक पर चलने वाले व्यक्ति के लिए सबसे ज्यादा मुश्किल होता है क्योंकि उसने अपने जीवन को उस सीमा तक घटा लिया है जिससे वह आराम से संभाल सकता है।

 

ऐसा व्यक्ति किसी भी परिवर्तन या चुनौती का स्वागत नहीं करता है। भले ही उसके कारण वह प्रगति कर सकता हो, अगर आप पाएं कि आप किसी गड्ढे में हैं तो खुदाई करना बंद कर दें, जब चीजें गड़बड़ हो रही हो तो उन्हीं चीजों को आगे भी न करते जाएं, परिवर्तन न करने की जीत और अनिच्छा मूर्खों की पहचान है फ्रांसिस बेकन ने कहा था जो व्यक्ति नए उपचार नहीं आजमाएगा उसे नई विपत्तियों के लिए तैयार रहना चाहिए।

 

मैं तुम्हें तुम्हारी जिंदगी की सर्वश्रेष्ठ राह बताऊंगा और मार्गदर्शन बनूँगा, ईश्वर कहते हैं मैं तुम्हें सलाह दूंगा और तुम्हारी प्रगति पर नजर रखूंगा, ईश्वर दूसरा दरवाजा खोलें बिना पहला दरवाजा बंद नहीं करता है, लेकिन उसने दरवाजे से गुजरने के लिए हम में परिवर्तन करने की इच्छा होनी चाहिए, प्रार्थना में हम बदलना सीखते हैं प्रार्थना सर्वाधिक परिवर्तनकारी अनुभवों में से एक है।

 

ऐसा हो ही नहीं सकता कि आप सच्ची प्रार्थना करें और आप में कोई बदलाव ना हो, सुरक्षित ढंग से खेलना शायद दुनिया का सबसे असुरक्षित काम है, आप स्थिर खड़े नहीं रह सकते आपको चलना होगा और वह परिवर्तन करना होगा जो ईश्वर आपसे करवाना चाहता है जो लोग परिवर्तन से घबराते हैं, वही सबसे ज्यादा दुखी होते हैं,

 

कई बार कहा जा चुका है अंडा पढ़े बिना आप आमलेट नहीं बना सकते, सफलता से अपने आप परिवर्तन हो जाता है एक परिवर्तन अगले परिवर्तन की राह बनाता है, और हमें विकास का अवसर देता है आपको परिवर्तन की कला में निपुण होने के लिए खुद को बदलना होगा ।

 

आपको परिवर्तन के लिए तैयार रहना होगा क्योंकि हर बार जब आप यह सोचते हैं कि आप अनुभव के कला से स्नातक होने के लिए तैयार हैं तो आपके सामने एक नया कोर्स आ जाता है, परिवर्तन की इच्छा हमेशा कायम रखने का फैसला करें, अगर आप अनुमान लगा सकते हैं कि कब फ्री रहना है, और कब झुकना है तो आपकी सफलता है सतत परिवर्तन के कारण हम बेचैन हो सकते हैं, लेकिन अगर परिवर्तन ना हो तो हम भयभीत हो जाएंगे वह व्यक्ति धन्य है,

 

जो अपने सिद्धांतों से समझौता किए बिना परिस्थितियों से तालमेल बैठा सकता है, परिवर्तन को देखने के लिए आप अपनी आंखें खुली रखें लेकिन अपने जीवन मूल्यों से समझौता न करें। अधिकांश लोगों को असफलता इसलिए मिलती है क्योंकि उनमें लग्न की कमी होती है क्योंकि वह असफल विचारों तथा योजनाओं की जगह पर नए विचारों और योजनाओं को विकसित नहीं कर पाते, परिवर्तन की इच्छा पर ही आपका विकास निर्भर करता है।

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

Check Also

किसी की आलोचना करने में समय व्यर्थ न गवाएं

सभी प्रगतिशील लोगों में एक खास बात होती है आलोचना उनकी तरफ खिची चली आती …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *