Home / लाइफ स्टाइल / टेड टर्नर जिंदगी की सफल कहानी

टेड टर्नर जिंदगी की सफल कहानी

टेड टर्नर ने इतिहास में अपना नाम अमर कर दिया हैं। विश्व के अरबपतियों की सूची में उनका नाम 634 वें स्थान पर हैं और उनके पास 2 अरब डॉलर की संपत्ति हैं। उनके इतने दौलतमंद होने का कारण यह हैं कि उन्होंने ऐसा नया काम किया, जिसमें किसी को भी सफलता की संभावना नहीं दिख रही थी।

 

टर्नर ने 24 घंटे का अंतर्राष्ट्रीय टी वी न्यूज़ चैनल सी एन एन शुरू किया, जो उस वक़्त संसार का पहला 24 घंटे का न्यूज़ चैनल था और आज संसार के सबसे मशहूर न्यूज़ चैनलों में से एक हैं। केबल के गॉडफादर टर्नर का यह कदम बहुत ही दुस्साहसिक था, क्योंकि तब तक किसी ने भी यह काम नहीं किया था। इसके अलावा उन्हें टी वी न्यूज़ का कोई अनुभव भी नहीं था।

 

मजेदार बात यह थी कि जिन लोगों के पास अनुभव थी – यानी ए. बी. सी., सी, बी. सी. और एन . बी. सी. जैसे बड़े टी वी नेटवर्क – उन्हें केबल न्यूज़ नेटवर्क के क्षेत्र में कोई संभावना नजर नहीं आ रही थी। ये टी वी नेटवर्क अगर चाहते तो सी एन एन जैसा चैनल शुरू कर सकते थे, ल;यकीन उन्होंने इस तरफ ध्यान नहीं दिया।

 

यही वजह थी कि एक भूतपूर्व बिलबोर्ड सेल्समेन को यह नया काम करने का अवसर मिल गया।  19 नवम्बर 1938 को सिनसिनाटी, ओहियो में जन्में रोबर्ट एडवर्ड टर्नर तृतीय अपने पिता की मृत्यु के बाद 24 साल की उम्र में टर्नर एडवरटाइजिंग कंपनी के प्रेसिडेंट और सी ई ओ बन गए।

 

टर्नर ने टेलीविज़न स्टेशन खरीदे, लेकिन उनका सपना था 24 घंटे का ऐसा विश्वव्यापी नेटवर्क प्रस्तुत करना जो सिर्फ समाचार प्रसारित करे। आलोचक यह भविष्यवाणी कर रहे थे कि समाचारों पर केन्द्रित 24 घंटे का चैनल निश्चित रूप से असफल हो जाएगा। लेकिन आलोचना और विरोध के बावजूद टर्नर ने 1980 में सी एन एन शुरू कर दिया।

 

इस बारे में टर्नर कहते हैं – सबसे अच्छी सलाह हैं कि कभी कुछ न करें। अगर आप कभी कुछ नहीं करेंगे तो कभी मुश्किलों में नहीं पड़ेंगे, लेकिन आप कभी कहीं पहुँच भी नहीं पायेंगे। उन्होंने 1 जून 1980 को सीएनएन पर ख़बरों का प्रसारण शुरू किया। उस वक़्त हर व्यक्ति उनकी आलोचना करते हुए कह रहा था कि वे एक मूर्खतापूर्ण काम कर रहे हैं और निश्चित रूप से दिवालिया हो जायेंगे।

 

उल्लेखनीय बात यह थी कि टर्नर ने बिना किसी मार्किट प्लान या व्यापक रिसर्च के सीएनएन शुरू कर दिया था। टेड टर्नर ने बाद में कहा था, अगर आपका विचार दमदार हैं, तो किसी शोध की जरूरत नहीं होती हैं। आपको अपने विचारों पर भरोसा होना चाहिए। केबल न्यूज़ नेटवर्क शुरू करने से पहले मैंने कोई मार्किट स्टडी नहीं की, हालाँकि इसमें मेरी सारी पूंजी लगी थी, मैं अपना मार्केटिंग विश्लेषण खुद करता हूँ।

 

कुछ समय में ही सी एन एन काफी लोकप्रिय हो गया। इसने समाचार उद्योग में क्रान्ति कर दी। जब इसने खाडी युद्ध का सीधा कवरेज दिखाया, तो इसी की बदौलत पूरे संसार ने पहली बार आरामकुर्सियों पर बैठकर टीवी पर असली युद्ध देखा।

 

सीएनएन आज दुनिया में हर जगह पहुँच गया हैं। खाड़ी युद्ध के बाद तो सीएनएन सबसे विश्वसनीय अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़ चैनल बन गया, क्योंकि सददाम हुसैन ने पश्चिम से बात करने के लिए सिर्फ सीएनएन का इस्तेमाल किया था। 1996 में टेड टर्नर ने अपनी कंपनी टी.बी.एस. का विलय टाइम वार्नर में कर दिया और इन्टरनेट की संभावनाओं का दोहन करने लगे।

 

2001 में उन्होंने ए.ओ.एल. तथा टाइम वार्नर का विलय करके संसार के सबसे बड़े मनोरंजक साम्राज्य की नींव डाली। टर्नर ने बहुत से यादगार काम किये हैं, लेकिन उनका सबसे यादगार काम सी.एन.एन. की स्थापना हैं, जिसने पूरे संसार को एक बड़े गाँव में बदल दिया।

ये भी जरुर पढ़ें:

अगर आप यूट्यूब से ऊब चुके है, तो ये अल्टरनेटिव वीडियो साइट्स
नन्हा खरगोश ने घमंडी शेर को सिखाया सबक – हिंदी कहानी
गुलाब का फूल – प्रेरणादायक कहानी
कांच की जार और दो कप चाय
पहले सही दिशा तय करे फिर आगे बढे – ज्ञान से भरपूर कहानी
गुरु के ज्ञान से आया शिष्य के आँखों में पानी – हिंदी कहानी
बूढ़ा कारपेंटर का आखिरी काम – हिंदी स्टोरी
अभिमान अक्ल को खा जाता है – एक प्रेरणादायक कहानी

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply