Home / ज्ञानवर्धक कहानियाँ / आत्मज्योतिः परमज्योति – Self jyoti param jyoti

आत्मज्योतिः परमज्योति – Self jyoti param jyoti

आचारांग सूत्र में भगवान् महावीर ने आत्मा के गुण का आख्यान करते हुए कहा हैं –

जो आत्मा हैं वह विज्ञाता हैं। जो विज्ञाता हैं वह आत्मा हैं। जिससे जाना जाता हैं वह आत्मा हैं। जानने की शक्ति से ही आत्मा की प्रतीति होती हैं।

 

आत्मा ज्ञानमय – आलोक – मय हैं। जब दृष्टि बाहर से मुड़कर भीतर की ओर खुलते हैं तो बाह्य आलोक झूठे हो जाते हैं। आत्मा की ज्योति सर्वोच्च ज्योति हैं। महा – आलोक पूर्ण हैं।

 

उपनिषदों में एक कथा आती हैं। एक बार महाराजा जनक महर्षि ज्ञाकवलक्य के  सान्निध्य में बैठे थे। उन्होंने महर्षि से एक प्रश्न किया – महर्षि ! हम जो देखते हैं वह किसकी ज्योति से देखते हैं।

 

ज्ञाकवल्क्य बोले – राजन ! यह तो सहज सरल ज्ञातव्य हैं कि हम जो भी देखते हैं वह सूर्य कि ज्योति के कारण देखते हैं।

विदेह जनक ने पुनः प्रश्न किया – जब सूर्य नहीं होता अर्थात जब सूर्य डूब जाता है तब हम किस प्रकाश में देखते हैं ?

ज्ञाकवल्क्य ने उत्तर दिया – तब हम चंद्रमा के प्रकाश में देखते हैं।

 

विदेहराज ने पुनः अपने प्रश्न को आगे बढ़ाया – महर्षि ! जब चन्द्रमा भी न हो , अमावस्या की बादलों भरी काली कजरारी रात्रि हो , तब हम कैसे देखते हैं ?

 

महर्षि ने उत्तर दिया – राजन उस समय हम शब्दों की ज्योति का आश्रय लेते हैं। घोर अन्धकाराच्छ्न्न मार्ग पर जब हाथ को हाथ न सूझ रहा हो , ऐसे में जब हम आवाज देते है कि हमें मार्ग दिखाओ। उस समय दूर खडा व्यक्ति कहता हैं – आओ इधर ! मैं मार्ग पर खड़ा हूँ। और हम उसकी पुकार के आलोक में मार्ग पर पहुँच जाते हैं।

 

जनक ने पुनः प्रश्न किया – प्रभु ! जब शब्द का प्रकाश भी उपलब्ध न हो तो किस प्रकाश के आलोक में हम देखें ?

 

महर्षि ज्ञाकवल्क्य ने समाधान दिया – राजन ! ऐसे में परमज्योति आत्मज्योति को ही आधार बनाया जाता हैं। और आत्मज्योति ही परमज्योति हैं – परम आलोकमय हैं। वस्तुतः आत्मज्योति के कारण ही सूर्य और चन्द्र की ज्योति सार्थक होती हैं। यदि अपनी आत्मज्योति से हम रिक्त हैं तो हम सूर्य के आलोक में भी अंधे के समान हो जायेंगे।

 

महर्षि के उत्तर से विदेहराज जनक को समाधान प्राप्त हो गया था।

ये भी जरुर पढ़ें:

बिना जिम गए यह 5 चीजें खाकर हफ्ते भर में घटाएं अपनी मोटी तोंद
10वीं पास के लिए इस विभाग में निकली है जॉब्स, जल्द करें आवेदन
डिलीवरी बॉय की जगह डिलीवरी रोबोट, बहुत जल्द आपको ये बदलाब दिखेगा
IPL 2018 में रैना और कोहली के बीच रिकॉर्ड के लिए होगी टक्कर, काैन मारेगा बाजी?
 बलिदान दिवस विशेष: इन क्रांतिकारी शहीदों से डरने लगे थे अंग्रेज सरकार
डायबिटीज की नई दवा वजन घटाने में मददगार
डायबिटीज आपके आंखों की रोशनी छीन सकती है जाने कैसे?

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply