Home / ज्ञानवर्धक कहानियाँ / विनम्रता हैं अपरिसीम बल – Humility is the unreliable force

विनम्रता हैं अपरिसीम बल – Humility is the unreliable force

विनय को आत्महित का मार्ग बताते हुए भगवान् महावीर स्वामी उत्तराध्ययन सूत्र में फरमाते हैं –

जो अपना हित चाहता हैं , उसे अपनी आत्मा को विनय में स्थापित करना चाहिए।

 

विनम्रता उच्चता की प्रतीक हैं , और अहं नीचता को प्रगट करता हैं। विनम्र सर्वत्र प्रशंसनीय होता हैं। उसे कहीं भय नहीं होता हैं। अहंकारी कदम – कदम पर भयभीत और प्रताड़ित होता हैं। विनम्रता से अभय का जन्म होता हैं।

 

महाभारत के शांति पर्व में सागर और सरिता के एक सुन्दर संवाद का वर्णन आता हैं। एक बार सागर ने सरिताओं से पूछा – महानदियों ! तुम प्रतिदिन वृक्षों और महावृक्षों को अपने साथ बहाकर लाती हो। मैंने सुना हैं की तुम्हारे किनारों पर सुन्दर बेंत भी उगते हैं। तुम कभी भी बेतों को बहाकर नहीं लायी हो। उन पर तुम्हारी इस विशेष कृपा का क्या राज है ? या वे तुमसे अधिक शक्तिशाली हैं।

 

सरिताओं ने कहा – हे महासागर ! न ही बेतों पर हमारी कुछ विशेष कृपा हैं और न ही वे बहुत शक्तिशाली है। वस्तुतः सत्य कुछ और ही हैं। सागर ने तरंगायित होते हुए पूछा – सत्य क्या हैं देवियों !

 

सरिताओं ने कहा – देव ! बरसात के दिनों में जब हम अपना उग्र रूप धारण करते हैं तो हम उन्ही वृक्षों को उखाड़ते हैं जो हमारे सामने सीना तानकर अकड़ कर खड़े रहते हैं , लेकिन बेतों ने आज तक ऐसा नहीं किया। जब भी हम उग्र प्रवाह धारण करती हैं , वे हमारे सामने झुक जाते हैं। इसीलिए हम उनको अपने साथ नहीं लाती , नदियों ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा – देव ! और हमारी प्रबल शक्ति उन्हें लाने में भी असमर्थ हो जाती हैं।

 

जो झुक जाता हैं वह अपरिसीम बल से भर जाता हैं , इसलिए यह समझना व्यर्थ हैं कि अकड़ने वाला ही बलवान होता हैं। झुकने वाला भी बलवान होता हैं। वस्तुतः झुक जाने में ही उसका बल बढ़ जाता हैं और उस स्थिति में उससे भी अधिक बलवान उसका कुछ अहित नहीं कर पाता हैं।

ये भी जरुर पढ़ें:

वमन रोग का आसान उपचार
अम्लपित्त का घरेलू असरदार उपाय
अफारा व पेट दर्द का शानदार घरेलू उपचार
ढीले स्तन का आसान जादुई इलाज
सिर्फ दो मिनट में दांत होगा चमकदार – करें ये उपाय
तुरंत करें गुटखा से तौबा, कैंसर की बीमारी के साथ मर्दानगी भी खतरे में
Eugene schueller L’Oréal के संस्थापक

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply