Home / स्वर्णिम सिद्धांत / हाथ पर हाथ रखकर समय का इंतजार ना करें

हाथ पर हाथ रखकर समय का इंतजार ना करें

आपकी तक़दीर संजोग से नहीं बनती है, यह तो आपके फैसलों से तय होती है, कई लोग जिंदगी में सही निशाना तो साध लेते है, लेकिन ट्रिंगर नहीं दवा पाते है, जब आप यह तय कर लेते है की आप क्या चाहते है, तो समझ लीजिये आपने अपनी जिंदगी का सबसे महत्वपूर्ण निर्णय ले लिया है, इसके बाद आपको बस इतना जानना है कि वह लक्ष्य हासिल करने के लिए आपको किन चीजों की जरुरत है।

 

ईश्वर की बताई राह पर निष्ठां रखो और ईश्वर में आस्था भी रखो, वह तुम्हारी इच्छा पूरी कर देगा, अगर हम आस्थावान है, तो ईश्वर इस बात का पूरा ध्यान रखेगा की हम सफल हों सफलता सुविचारित निर्णय का परिणाम है, सफलता ईश्वर की इच्छा के अनुरूप अपने जीवन को ढलने का परिणाम है, मार्गदर्शन का मतलब ये है की मै ईश्वर के सहारे पर भरोसा कर सकता हूँ, निष्ठां का मतलब यह है की ईश्वर मुझपर भरोसा कर सकता है।

 

हार्वे कॉक्स ने कहा था, निर्णय न लेना भी एक तरह का निर्णय है, अनिर्णय की मिटटी में खपतवार आसानी से उग आती है, बिच सड़क में न खड़े रहें , सड़क के बिच में खड़े रहना बहुत खतरनाक होता है, दोनों तरफ से आने वाली गाड़ियां आपको टक्कर मार सकती है, असफलता की ट्रेन आम तौर पर अनिर्णय की पटरी पर ही दौड़ती है।

 

अनिर्णय के कारण वयक्ति मौत आने से पहले ही मुर्दा हो सकता है, अनिर्णय आपको कमजोर करता है, और खुद शक्तिशाली बन जाता है, इसके बारे में ये भी कहा जा सकता है की कुछ समय बाद इसकी आदत पड़ जाती है, इतना ही नहीं यह बिमारियों की तरह संक्रामक होता है और दूसरों को भी लग जाता है।

 

सम्मिलित होने और समर्पित होने के बिच दृष्टिकोण का महीन अंतर होता है, जब तक कोई समर्पित नहीं होता, तब तक हिचक रहती है, पीछे हटने की आशंका रहती है और असफलता की सम्भावना रहती है, रोमांचक जीवन का उद्घोष होता है, मै यह अवश्य करूँगा।

 

आपको अनुसरण और निर्णय के बिच चुनाव करना होगा, ठेले जैसे ना बने, जो उतना ही आगे बढ़ता है, जितना उसमे धक्के लगाया जाता है, कमजोर लोग हमेशा दूसरों के दिए विकल्प में से चुनने के लिए विवश होते है, क्योकि वे अपने विकल्प खुद नहीं चुनते है, माइक मरडॉक सच कहते है, जिस को आप होने देते है, उसके बारे में कभी शिकायत न करें।

 

समझदार वयक्ति अपने निर्णय खुद लेता है, अज्ञानी वयक्ति जनमत का अनुसरण करता है, आप आज जहाँ है, वहाँ आप इसलिए है, क्योकि आपने वहां होने का विकल्प चुना है, वास्तविकता समर्पण के अनुरूप आकार लेती है, समर्पित वयक्ति हमेशा उन सैकड़ों लोगों से ज्यादा कामयाब होता है, जिनकी किसी काम में सिर्फ रूचि होती है, समर्पण विचार को हकीकत में बदल देता है।

 

निर्णय लेने की आदत डालें, भले ही इसका मतलब यह हो की आपसे कई बार गलती होगी, आपके भविष्य की कुंजी यह है की इसके बाबजूद आप अपने विकल्प चुन सकते है, आपने जिस भावी स्वरूप के प्रति समर्पित होने का निर्णय लिया है, वह निर्णय आपके वर्तमान को बदलकर आपको सुनहरे भविष्य तक पंहुचा देगा, जहाँ आप पहुंच सकते है।

ये भी जरुर पढ़ें:

ज्याँ – क्लाड डेकॉक्स ने स्ट्रीट फर्नीचर की दुनिया पर राज किया 

चार्ल्स श्वाब की सफलता का राज

जेम्स लेवॉय सोरेन्सन, सीनियर 1921 – 2008

कैरी पैकर की सफलता के कुछ अनसुने बातें

क्लेरेंस बर्ड्सआई फ्रोज़न फ़ूड प्रोडक्ट्स के जनक

Charles M Schulz Peanuts Comic के संस्थापक

सबीर भाटिया हॉटमेल के संस्थापक

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply