Home / ज्ञानवर्धक कहानियाँ / लोभी सेठ – कंजूसी की हद पार

लोभी सेठ – कंजूसी की हद पार

ऋग्वेद के एक ऋषि ने कृपण व्यक्ति के सन्दर्भ में कहा है –

प्रातः  काल के स्वप्न तथा कंजूस धनी से मैं खिन्न हूँ , क्योंकि दोनों ही शीघ्र नष्ट हो जाते है।

 

कृपणता जीवन का – ह्रदय का अभिशाप हैं। एक ऐसा अभिशाप कि जो संचित धन का उपयोग न स्वयं के हित करने देता है और न ही दान आदि कार्यों में व्यय करने देता है। कृपण व्यक्ति को धनी नहीं कहा जा सकता है, वह तो धन की रक्षा करने वाला पहरेदार होता है।

 

धनी या धन का स्वामी तो वह होता है जो धन का उपयोग जब चाहे जैसा चाहे करे, और जो केवल उसकी रक्षार्थ ही जीऐ, वह तो उसके मोह, लोभ का बंदी होता है।

 

शेखशादी ने कृपण व्यक्ति के विषय में कहा था – कृपण की चाँदी उस समय जमीन के बाहर आती है जब कृपण स्वयं जमीन के अंदर चला जाता है।

 

एक अति लोभी और कृपण सेठ था। जीवन में बहुत धन संचित किया था उसने। वह वृद्ध हो गया। न उसे दिखाई देता था और न ही वह चल सकता था। उसके चार पुत्र थे। एक बार सेठ बीमार पड़ गया  मृत्यु साक्षात थी। उसके चारो पुत्र उसके पास बैठे थे।

 

सेठ ने लड़खड़ाती आवाज़ से पूछा – मेरा बड़ा पुत्र  कहाँ है। उसे बता दिया गया की उसके पास ही बैठे है। सेठ ने चारों पुत्रों के बारे में पूछा और जब ज्ञात हुआ कि चारों उसके पास है तो वह दुखित होते हुए बोला –  नालायकों ! सब यहीं हो। दूकान पर क्यों नहीं हो।

 

बड़ा पुत्र बोला –  पिताजी ! ऐसे समय मैं हमें आपके पास ही होना चाहिए। हम आपको किसी बड़े डॉक्टर के पास ले जाना चाहते हैं। कृपण सेठ बोला –  कितना खर्च हो जाएगा डॉक्टर के पास मुझे ले जाने में ?  पुत्र बोला –  जो भी खर्च होगा , हजार दो हजार , आप उसकी चिंता छोड़िये।

 

सेठ बोला –  और मेरे संस्कार पर तो सौ – दो सौ में ही काम चल जाएगा न ! इसलिए मुझे डॉक्टर  नहीं चाहिए , मेरी अर्थी की तैयारी कर दो।  कृपण  पिता की बात सुनकर पुत्रों ने सिर पीट लिया।

 

सत्य है कि अति कृपणता मनुष्य से उसका विवेक ही नहीं अपितु , जीवन का मोह भी छीन लेता है।

ये भी जरुर पढ़ें:

महामूर्ख कौन – ज्ञानवर्धक कहानी
मन की निर्मलता – ज्ञानवर्धक कहानी
छल विश्वास का परम शत्रु हैं
सौन्दर्यः असौंदर्य
क्षणमिह सज्जन – संगतिः
धैर्य है सिद्धिदाता
सच्चे दिल से धर्म की रक्षा करो वो तुम्हारा रक्षा करेगा

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply