Home / स्वर्णिम सिद्धांत / सफल जिंदगी के लिए बहाने बनाने से बचें

सफल जिंदगी के लिए बहाने बनाने से बचें

निन्यानवे प्रतिशत मामलों में वही लोग असफल होते हैं, जिनमें बहाने बनाने की आदत होती है. आप तब तक कभी असफल नहीं होते जब तक आप किसी दूसरे को दोष ना देने लगे।  दूसरों को दोष देना छोड़ दे आप पाएंगे कि बहाने बनाने में निपुण हो जाने के बाद, आप किसी और काम में निपुण नहीं हो सकते, बहाने वे औजार है जिनमें लक्ष्य भविष्य दृष्टि से रहित व्यक्ति खोखलेपन के विशाल स्मारक बनाता है।

 

ज्यादातर लोग अपनी गलतियों से सबक सीख सकते हैं, बशर्ते बे उन्हें नकारने और खुद को बचाने में व्यस्त न रहे। मुझे विश्वास है कि जो लोग अपनी गलती मान लेते हैं वह उन लोगों से बहुत आगे पहुंच जाते हैं जो खुद को सही साबित करने की कोशिश करते रहते हैं।  जिस तरह जहर भोजन को नष्ट कर देता है, उसी तरह बहाने सफल जीवन को बर्बाद कर देता है।

 

काम करने से अमीरी आती है बातें करने से गरीबी आती है, कुछ लोगों के पास काम न करने के हजारों कारण होते हैं जबकि उन्हें दरअसल सिर्फ एक ऐसे कारण की जरूरत होती है, कि वह काम क्यों कर सकते हैं, एक कारण खोज लें कि आप काम क्यों कर सकते हैं ।

 

सबसे बड़े बहानों में से एक है, अफसोस या पछतावा, पछतावे से बचने का तरीका यह है कि जिंदगी के खेल में अपना सब कुछ झोक दें, जिंदगी में मैंने सबसे मूल्यवान सबक यह सीखा है कि किसी भी बात का अफ़सोस मत करो। अपने सभी पश्चाताप खत्म कर दो, मैं मानता हूं कि ज्यादातर लोग अफ़सोस भरा जीवन जीते हैं, अफ़सोस करना ऊर्जा की बहुत भयानक बर्बादी है, आप इसकी नीव पर कोई सकरात्मक चीज नहीं बना सकते यह तो सिर्फ लुढ़कने के लिए अच्छा है।

 

सच तो यह है कि हजार अफसोस भी एक कर्ज नहीं चुका सकते हैं, अपनी जिंदगी इस तरह जिए ताकि आप की समाधि के पत्थर पर या लिखा हो इस व्यक्ति को कभी किसी बात का अफसोस नहीं रहा

 

गलती करने के बाद विजेता कहता है यह मेरी भूल थी, जबकि गलती करने के बाद पराजित व्यक्ति कहता है मैंने यह गलती की ही नहीं। क्या आप भी ऐसा ही सोचते हैं, क्या आप भी विजेताओं के तरह कहते हैं यह मेरी गलती थी, या फिर आप यह कहते हैं या मेरी गलती नहीं थी। विजेता अपनी गलती मान लेता है पराजित व्यक्ति बहाने बनाता है।

 

आलसी लोगों के पास बहाने बनाने की कोई कमी नहीं होती है, नहीं कर सकता वाक्यांश का दरअसल यह मतलब है, कि आप कोशिश ही नहीं करेंगे, यह दुनिया का सबसे बुरा वाक्यांश है। यह झूठ या निंदा से भी ज्यादा नुकसान करता है, नहीं कर सकता सबसे बुरा बहाना है, और सफलता का सबसे बड़ा शत्रु है।

 

हमारे पास असफलता के कारण तो कई हो सकते हैं, लेकिन बहाना एक भी नहीं होना चाहिए, बहाने हमेशा प्रगति की जगह हथिया लेंगे, चाहे आप कोई भी काम करें, शिकायत करने और बहस करने से बचें ताकि कोई आपके खिलाफ एक शब्द भी न बोल पाए, वाहनों को दफन कर देना चाहिए, उनके स्मारक नहीं बनाना चाहिए, ईश्वर के सामने बहाने नहीं चलते हैं, जो व्यक्ति हमेशा बहाने बनाता है, वह हमेशा गलत होता है क्योंकि गलती ना मानने से दुगनी बड़ी हो जाती है।

 

आपकी जिंदगी का सबसे अच्छे साल वह होते हैं जिसमें आप यह निर्णय लेते हैं कि आपकी समस्या आप ही की है। आप उनके लिए अपनी मां बाप या दुनिया को दोष नहीं दे सकते, उस वक्त आपको यह एहसास हो जाता है कि आप ही अपने भाग्य के विधाता है। हमें फ्लोरेंस नाइटिंगेल की तरह अपनी जिंदगी जीना चाहिए, जिन्होंने कहा था मैं अपनी सफलता का श्रेय इस बात को देती हूं कि मैंने कभी ना तो बहाना बनाया नहीं उसे स्वीकार किया।

ये भी जरुर पढ़ें:

पित्ताश्मरी का घरेलू उपचार

मुंह के छाले का घरेलू उपचार

पेट के कीड़े से छुटकारा

हैजा का देसी उपचार – Treatment of cholera

अतिसार या अजीर्ण की चिकित्सा न करने पर संग्रहणी रोग होता है

पेचिश की जानकारी ही बेहतर इलाज

दस्त ( अतिसार ) का घरेलू इलाज़

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply