Home / स्वर्णिम सिद्धांत / असफलता का मतलब कुछ नया करने की कोशिश, यानि सफलता आपके बहुत करीब

असफलता का मतलब कुछ नया करने की कोशिश, यानि सफलता आपके बहुत करीब

जिंदगी में आप जो सबसे बड़ी गलती कर सकते है, वह यह है की आप गलती करने से घबराते रहें, असफल होने से ना डरें और ना ही असफलता को छिपाने की कोशिश में, अपनी ऊर्जा बर्बाद करें। अगर आप असफल नहीं हो रहे है, तो आप विकास नहीं कर रहे है, यह H स्टैन्डले जुड का कथन है। जब सफल लोग विकास करना और सीखना बंद कर देते है, तो ऐसा इसलिए होता है, क्योकि उनमे असफलता का जोखिम लेने की इच्छा कम हो जाती है, असफलता पराजय नहीं विलम्ब। यह एक बंद सड़क नहीं, बल्कि सफलता तक पहुंचने का अस्थायी घुमाबदार मार्ग है।

 

गलतियां हम सबसे होती है, खासतौर पर उन लोगों से जो कुछ करते है, असफलता अक्सर सफलता की तरफ ले जाने वाला पहला आवश्यक कदम है। अगर हम असफल होने का जोखिम नहीं लेंगे, तो हमें सफल होने का अवसर भी नहीं मिलेगा, अगर हम कोशिश कर रहे है, तो इसका मतलब यह है की हम जीत रहे है।

 

असफल होना तो कोशिश करने का स्वाभाविक परिणाम है।  कभी भी आउट होने के डर को विजय के आड़े न आने दें – बेब रुथ, जिन्होंने सबसे ज्यादा बॉल चुकने और सबसे ज्यादा होम रन बनाने का दोहरा रिकॉर्ड बनाया।

 

आदर्श बनने की कोशिश छोड़ दें, जब आपको कोई गंभीर निर्णय लेना हो, तो खुद से दृढ़ता से कहें की आप इसे लेने वाले है, कभी भी यह उम्मीद न करें की यह निर्णय आदर्श होगा। मुझे विस्टन चर्चिल की यह बात बहुत पसंद है, जो चीज आदर्श नहीं है, वह निरर्थक है, इस कहाबत के अनुरूप चलने से कर्म को लकवा मार जाता है,

 

हेनरी वार्ड बिचर ने लिखा है, मुझे वे भावहीन, सटीक और आदर्श लोग पसंद नहीं है, जो गलत न बोलने के डर से बोलते ही नहीं है, और गलत काम न करने के डर से कोई काम करते ही नहीं है, उत्कृष्टता की कोशिश करना अच्छी बात है, लेकिन आदर्श काम करने का प्रयास कुंठाजनक, अलाभकारी, और समय की भयंकर बर्बादी है।

 

सच तो यह है की आप टी बैग की तरह है, जबतक आप गरम पानी में नहीं पहुंचेंगे, तब तक आप अपनी शक्ति नहीं जान पाएंगे, असफलता से हम तभी बच सकते है, जब हम कुछ ना कहें, कुछ ना करे, कुछ ना बने, याद रखे की असफलता के दो लाभ है, पहला अगर आप असफल होते है, तो आप यह सीखते है, की कौन सी गलती नहीं करनी है, और दूसरा असफलता आपको एक नयी निति आजमाने का मौका देती है।

 

कई बार पराजय सिर्फ विजय की सीढ़ी होती है, हेनरी फोर्ड ने कहा था, गलती भी आगे जाकर महत्वपूर्ण उपलब्धि के लिए जरुरी साबित हो सकती है, कुछ लोग अपनी गलतियों से सीखते है, तो कुछ उनसे कभी नई उबर पाते है, यह सीखें की समझदारी से असफल कैसे हुआ जाता है, असफलता में सफलता का विकास करें।

 

हताशा और असफलता सफलता की दो सबसे विश्वसनीय पायदान है, यदि वयक्ति इनका अध्यन करे और इसका पूरा लाभ उठाना चाहे, तो उसे इससे जितना लाभ होगा, उतना किसी दूसरी चीज से नहीं होगा, ज्यादातर लोग सफलता और असफलता के लोग विरुदधार्थी समझते है, लेकिन ये दोनों दरअसल एक ही परिक्रिया के परिणाम है।

 

असफलता का मौसम सफलता का बिज़ बोने के लिए सबसे अच्छा समय है, सफल लोग असफल होने से नहीं घबराते है, वे एक के बाद एक असफलता झेलते रहते है, जब तक की वे अंततः सफल नहीं हो जाते है, अगर आप अपनी सफलता की रफ़्तार बढ़ाना चाहते है, तो इसका सबसे अच्छा तरीका यह है, की आप अपनी असफलता की दर को दोगुना कर दें, असफलता का नियम सफलता के सबसे शक्तिशाली नियमो में से एक है।

 

नॉर्मन विन्सेंट पिल ने कहा है, चाहे आप कितनी ही गलतियां कर दें, चाहे आप कितनी ही चीजें गड़बड़ कर दें, इसके बाबजूद आप एक नई शुरुआत कर सकते है, जिस वयक्ति को इस बात का पूरी तरह एहसास हो जाता है, उसे असफलता के सदमे तथा दर्द से कम कष्ट होता है, और वह जल्दी ही एक नयी शुरुआत कर देता है।

ये भी पढ़ें:

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल टेलीफोन के आविष्कारक

जेम्स एच क्लार्क के जीवन की कहानी

सुभाष चंद्रा के सफलता की कहानी

eBay Founder पियेर ओमिदयार के सफल जीवन

गॉर्डन मूर और रॉबर्ट नॉइस दुनिया की सफल जोड़ी

फ्रैंक वूलवर्थ एक सफल उद्योगपति

मैडम सी. जे. वाकर के सफल जीवन

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply