Home / स्वास्थ / अर्दित के लक्षण, कारण एवं घरेलू उपचार
अर्दित के लक्षण
अर्दित के लक्षण

अर्दित के लक्षण, कारण एवं घरेलू उपचार

अर्दित

कारण

मस्तिष्क की सप्तम नाड़ी जिसकी शाखाएं चेहरे पर फैली होती हैं , में विकृति के कारण अर्दित रोग होता हैं। मस्तिष्क में रक्तस्राव या धमनी में अवरोध या सर्दी आदि कारणों से नाड़ी में सूजन हो जाने के कारण सप्तम नाड़ी में विकृति आने से यह रोग होता हैं।

ये भी पढ़ें: पुरुषों की हर तरह कमजोरी का नामोनिशान मिटाने के कुछ देसी तरीके

लक्षण

यह रोग अचानक शुरू होता हैं। कभी – कभी इसके होने से पहले कान के नीचे दर्द होता हैं। रोग के आक्रमण से आधा चेहरा भावहीन हो जाता हैं और ऐसा लगता है कि मांसपेशियों में शक्ति नहीं हैं। चेहरा एक ओर को अकड़ा हुआ अनुभव होता हैं। होंठ पूरी तरह बंद नहीं होते , जिससे पिया हुआ द्रव बाहर निकलने लगता हैं। उस ओर की आँख की पलकें भी पूरी तरह बंद नहीं होती। रोगी साफ़ नहीं बोल पाता। जीभ में एक ओर स्वाद का भी पता नहीं चल पाता। रोगी का चेहरा एक ओर को (रोग से प्रभावित दिशा से विपरीत दिशा में ) घूमा या खींचा हुआ महसूस होता हैं।

ये भी पढ़ें: मानसिक रोग के कारण और घरेलू उपचार

घरेलू चिकित्सा

  • रोगी को फुटबॉल के अन्दर रहने वाला रबड़ का ब्लैडर फुलाते रहना चाहिए , जिससे मांसपेशियों व नाड़ी को क्रियाशील होने में सहायता मिले।
  • बच व सोंठ सामान मात्रा में कूट – पीसकर छान लें। एक – एक ग्राम दवा शहद के साथ सुबह – शाम चटाएं।
  • शुद्ध कुचले का चूर्ण 125 मि. ग्रा. की मात्रा में आधी चमच्च शहद में मिलाकर सुबह – शाम चटाएं व ऊपर से गर्म दूध पिला दें।
  • सन के बीज बारीक पीसकर चूर्ण बना लें। दो – दो चमच्च सुबह – शाम शहद में मिलाकर दें।
  • 10 ग्राम लहसुन पीसकर सुबह खाली पेट मक्खन के साथ दें।
  • अलसी व तिल बराबर मात्रा में पीसकर लुगदी बनाएं , उसमें नमक व सरसों का तेल मिलाकर लेप बनाएं व गर्म – गर्म कानों के बीच बांधें। एक सप्ताह बाद सैन्धवादि तेल या महानारायण तेल की मालिश करें।
  • मल्ल सिन्दूर व महागंधक योग 125 मि.ग्रा. प्रत्येक मिलाकर सुबह – शाम शहद के साथ दें।

ये भी पढ़ें: बुखार के प्रकार कारण एवं घरेलू उपचार

नोट: बताये हुए बिधि को यूज़ करते रहे आपको फायदा अवश्य मिलेगा, और फिर भी मन में कोई संकोच है, तो एक बार डॉक्टर की परामर्श अवश्य लें. हमारे लेटेस्ट जानकारी के पोस्ट को इसी तरह पढ़ते रहे और फायदा प्राप्त करते रहें।

स्कर्वी, रक्ताल्पता, मधुमेह, गठिया, मोटापा, गंजापन, कैंसर (चयापचय) का घरेलू उपचार

आग से जलना, नकसीर, विषाक्तता, सर्पविष, दम घुटना, रक्त स्राव, दिल का दौरा का प्रथमिक उपचार

चेहरे से दाग धब्बे और झाइयों हटाएँ और नई चमक पाएं इस घरेलू उपचार से

दिल का दौरा, बचाव एवं कुछ जरूरी घरेलू टिप्स

पेशाब में जलन से परेशान है तो इसे हल्के में ना ले, तुरंत घरेलू उपचार करें

गुलाबी होंठ चाहिए तो ये रहा सबसे आसान घरेलू उपचार

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

One comment

  1. http://www.freeprachar.com के द्वारा पूरी दुनिया में अपने बिज़नेस का प्रचार करें TOTALLY FREE

Leave a Reply