Home / स्वर्णिम सिद्धांत / समस्या का चुनाव हमेशा अपने से बड़े करें

समस्या का चुनाव हमेशा अपने से बड़े करें

लोग लगभग हमेशा अपने आकार की ही समस्या सुनते अपने से बड़ी या छोटी समस्याओं को भी वे या तो नजर अंदाज कर देते हैं या फिर दूसरों के लिए छोड़ देते हैं, अपने से बड़े आकार की समस्या चुनें किसी भी प्रयास में सफलता सच्ची सफलता पाने के लिए ऐसी चीजों की जरूरत होती है जो ज्यादातर लोग देना नहीं चाहते, ऐसा नहीं है कि वह दे नहीं सकते हैं लेकिन दरअसल उनमें इसकी इच्छा नहीं होती है।

 

सुरक्षा की चाहत बड़े और अच्छे सपने की राह में बाधा डालती है सुरक्षा की इच्छा जड़ता की दिशा में पहला कदम है, इस दुनिया के साथ समस्या यह है कि बहुत सारे लोग दोनों हाथों में गलब्स पहनकर जिंदगी गुजारने की कोशिश करते है।

 

साहसिक भविष्य दृष्टि पहली, दूसरी और तीसरी सबसे महत्वपूर्ण चीज है। जो व्यक्ति किसी चीज का जोखिम नहीं लेता है, उसे किसी चीज़ की उम्मीद भी नहीं करनी चाहिए, जो व्यक्ति अपने अतीत के कामों से संतुष्ट है वह भविष्य के कामों के लिए कभी मशहूर नहीं होगा, अगर आपने वह सब हासिल कर लिया है, जिसकी आपने योजना बनाई थी तो इसका मतलब यह है कि आपने पर्याप्त बड़ी योजना नहीं बनाई थी।

 

किसी शक्तिशाली लक्ष्य को अपने सामने रखे, सही लक्ष्य को पाने का जोखिम ले, ऐसा लक्ष्य चुने, जिसके बदले में आप अपनी जिंदगी का एक हिस्सा समर्पित करने के इच्छुक हो, सुख का सबसे निश्चित मार्ग ये है की आप खुद को अपने से बड़े लक्ष्य के लिए समर्पित कर दे, अगर आप अपने से बड़े आकार के लक्ष्य तक पहुंचने की कोशिश नहीं करेंगे तो आप दुखी रहेंगे।

 

यह कहना मुश्किल है कि असंभव क्या है क्योंकि बीते हुए कल का सपना आज की आशा और आने वाले कल की वास्तविकता है. हर बड़ा काम शुरुआत में असंभव दिखता है, इसके पूरे होने के बाद ही व्यक्ति को यह संभव लगता है, छोटी सोच वाले लोगों को हर चीज पहाड़ जैसी दिखती है, सबसे महान चीज है कई महान काम सबसे आसान होती है, क्योंकि उनमें बहुत कम प्रतियोगिता होती है।

 

आत्म-संतुष्टि इस बात के पुख्ता निशानी है, कि प्रगति का सिलसिला अब खत्म होने वाला है, अगर आप खुद से संतुष्ट है, तो बेहतर होगा कि आप अपना आदर्श बदल ले, यह जानना कितना बेहतर है कि अफसोस की निष्क्रियता मैं जिंदगी बिताने के बजाय, हमने अपने सपनों को साकार करने का जोखिम लिया है, नियंत्रण घातक है, कोई भी चीज अति की तरफ सफल नहीं होती है।

 

आप अपने ऊँचें सपनों की सफलता को तब तक नहीं पा सकते है, जब तक कि आपके पास ऊंचे सपने ना हो।

About admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

Check Also

किसी की आलोचना करने में समय व्यर्थ न गवाएं

सभी प्रगतिशील लोगों में एक खास बात होती है आलोचना उनकी तरफ खिची चली आती …

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of