Breaking News

लॉकडाउन में घर लौटे श्रमिकों के लिए मोदी सरकार का मेगा प्लान, रोजगार देने की मुहिम


मोदी सरकार के द्वारा देश के 6 राज्यों के उन 116 जिलों को चिन्हित किया गया है, जहां लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूर वापस लौट कर अपने घर आये हैं.

भारत सरकार ने लॉकडाउन के कारण अपनी जीविका और रोजगार के साधन गंवाने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए मेगा प्लान तैयार किया है. केंद्र सरकार ने देश के 6 राज्यों के उन 116 जिलों की पहचान की है, जहां लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा श्रमिक वापस अपने घर लौट कर आये हैं और बेरोजगारी झेल रहे है .

केंद्र की सरकार ने ऐसे प्रवासी मजदूरों के लिए एक मेगा प्लान तैयार किया है. इस प्लान के अंतर्गत लॉकडाउन के दौरान अपने राज्यों और गांवों को लौटे प्रवासी मजदूरों के पुनर्वास और उनके रोजगार के लिए विस्तृत  खाका तैयार किया गया है.

सरकार इन 116 जिलों में केंद्र सरकार के सोशल वेलफेयर और डायरेक्ट बेनिफिट स्कीम को तेजी से मिशन मोड में चलाने को तत्पर है ताकि इसका लाभ लोगों को दिया जा सके.

सरकार की योजना  है कि घर वापस लौटे प्रवासियों के लिए आजीविका, रोजगार, कौशल विकास और गरीब कल्याण सुविधाओं का लाभ सुनिश्चित किया जा सके जिससे इनलोगों की जीविका को सुनिश्चित किया जा सके.

इन चिन्हित जिलों में मनरेगा, स्किल इंडिया, जनधन योजना, किसान कल्याण योजना, खाद्य सुरक्षा योजना, पीएम आवास योजना समेत अन्य केंद्रीय योजनाओं के तहत मिशन मोड में तेजी लाते हुए काम किया जायेगा.


इन सबके अलावा पीएम मोदी द्वारा घोषित आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत इन जिलों पर विशेष ध्यान केंद्रित करने के साथ ही बाकी केंद्रीय योजनाओं को भी निश्चित तरीके से लागू किया जाएगा.

केंद्र सरकार के मंत्रालयों को भी निर्देशित गया है कि दो हफ्ते में इन जिलों को ध्यान में रखकर योजनाओं का प्रस्ताव तैयार करके पीएमओ को भेजें ताकि जल्दी से इन्हे असली जामा पहनाया जा सके.


केंद्र सरकार की तरफ से इस मिशन के तहत चयनित 116 जिलों में सबसे ज्यादा 32 जिले बिहार, यूपी के 31 जिले ,मध्य प्रदेश के 24, राजस्थान के 22 , झारखंड के 3 और ओडिशा के 4 जिले शामिल हैं.

बताते चले कि हाल में कोरोना लॉकडाउन के दौरान श्रमिकों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. कोरोना के कारण व्याप्त इस लॉकडाउन के दौरान रोज़गार बंद होने के वजह से श्रमिकों के लिए जीविकोपार्जन का विशाल संकट खड़ा हो गया है जो की एक गंभीर समस्या हो गई है .

लॉकडाउन की वजह से देशभर में मजदूरों का देश के हिस्सों से पलायन शुरू हो गया. प्रवासियों द्वारा गांव लौटने के क्रम में इन्हें तमाम संकटों का सामना करना पड़ा. इसी बात को ध्यान में रख कर मोदी सरकार  विशेष कदम उठाने जा रही है ताकि घर लौटने पर इनके रोजगार का इंतजाम किया जा सके और उन्हें इस विपत्ति के समय राहत पहुंचाई जा सके.

1 comment: