Breaking News

Lockdown 5: लॉकडाउन-5 की तैयारी शुरू, टिकी देश की नज़रें | कोरोना वायरस


भारत सरकार ने Lockdown 5 की तैयारी शुरू कर दी है। बताते चलें की रविवार को Lockdown 4 की अवधि समाप्त होने के कगार पर है। इसके मद्देनजर कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने राज्यों के मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों के साथ वीडियो कांफ्रेंस की और वीडियो कांफ्रेंसिंग में कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित 13 शहरों के नगर आयुक्त, जिला मजिस्ट्रेट और एसपी को शामिल कर सरकार ने इस बात के स्पष्ट संकेत दिया है कि लॉकडाउन-पांच के दौरान मुख्य जोर कोविड संक्रमण के बड़े हॉटस्पॉट पर होगा और देश के बाकी हिस्सों में पहले से कुछ अधिक छूट दी जा सकती है।



कोरोना वायरस: 70 प्रतिशत से ज्यादा मामले 13 शहरों तक सीमित


Coronavirus के संक्रमण के मामलों की तेजी से बढ़ती संख्या सरकार के लिए बड़ी चिंता की वजह बनी हुई है। लेकिन यहाँ राहत की बात यह है कि कोरोना के 70 फीसद से अधिक मामले 13 शहरों तक ही सीमित हैं। ये शहर हैदराबाद, कोलकाता, इंदौर, जयपुर, जोधपुर, मुंबई, चेन्नई, दिल्ली, अहमदाबाद, ठाणे, पुणे चेंगलपट्टू और तेरूवल्लुर हैं। जाहिर सी बात है कि इन शहरों में यदि कोरोना के मामलों का सही तरीके से प्रबंधन किया जाए तो इसको देश के बाकी हिस्से में प्रसार से रोका जा सकता है।



सूत्रों के मुताबिक  कैबिनेट सचिव ने बैठक के दौरान शहरों में Coronavirus के प्रसार  रोकने के लिए किए  प्रयासों की समीक्षा की। इन शहरों में कोरोना के बड़े कलस्टर बनने और उसे रोक पाने में स्थानीय प्रशासन की भूमिका की जानकारी ली। कैबिनेट सचिव के वीडियो कांफ्रेंसिंग में इन शहरों में प्रति लाख जनसंख्या पर हो रही कोरोना की जांच, उसमें पॉजिटिव पाए जाने वाले मरीजों की दर, कोरोना के मामलों को दोगुना में लगने वाले समय और इससे होने वाली मृत्यु दर का विस्तार से प्रेजेंटेशन किया गया।


Lockdown 5: रेड जोन इलाके 


कैबिनेट सचिव ने कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कहा कि इन शहरों में बन रहे Corona के कलस्टर को रोकने के लिए पहले ही गाइडलाइंस जारी की जा चुकी हैं और उसे पूरी कड़ाई से लागू करने की जरूरत है। इसके तहत स्थानीय प्रशासन रेड जोन इलाके को पूरी तरह सील करने के साथ ही घर-घर सर्वे और अधिक-से-अधिक लोगों की जांच सुनिश्चित करें।


Lockdown 5: विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश



13 शहरों के अलावा देश के बाकी हिस्सों के लिए भी कैबिनेट सचिव द्वारा विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया। खासकर उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और ओडिशा जैसे राज्यों में जहां बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर अपने घरों को लौट रहे हैं और स्क्रीनिंग और जांच के बाद उनमें से कई Coronavirus से संक्रमित भी मिल रहे हैं। आइसीएमआर ऐसे सभी प्रवासी मजदूरों के अधिक-से-अधिक टेस्ट कराने के लिए गाइडलाइंस जारी कर चुका है।



Lockdown 5: राज्य सरकारों के विचार 


गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि Corona के मामलों में तेज़ी को देखते हुए लॉकडाउन को और 15 दिनों तक बढ़ाया जाना चाहिए।

सावंत ने कहा कि उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से फ़ोन पर बात की है और लॉकडाउन को और 15 दिनों के लिए आगे बढ़ाया जाना चाहिए।

हालाँकि, उन्होंने कहा कि हम कुछ रियायत भी चाहते हैं, जैसे  रेस्तरां को 50 फ़ीसदी ग्राहकों के साथ खोलने की अनुमति दी जा सकती है।

भारत में लॉकडाउन-4 ख़त्म होने में बस एक दिन बचे हैं। इस बीच आगे की रणनीति क्या होनी चाहिए, इस पर गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ मंत्रणा भी की थी।

अभी तक राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ ये चर्चा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही करते आए हैं।


ये  संकेत है कि राज्य सरकारें लॉकडाउन के अगले चरण में अपनी सशक्त भूमिका चाहते हैं।

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मुख्यमंत्रियों की बैठक से पहले ही कहा दिया की वे चरणबद्ध तरीक़े से धीरे-धीरे इस लॉकडाउन को गति देने के लिए जो बेहतर और कारगर उपाए होंगे वो उन्हें करेंगे।

उनके द्वारा यह भी स्पष्ट किया कि उनकी सरकार केंद्र के फ़ैसले को ही अमल में लाएगी।

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री जयंत पाटिल ने दो दिन पहले प्रेस कॉंफ्रेंस कर बताया कि राज्य सरकार और कुछ सेवाओं में छूट देने पर विचार कर रही है, लेकिन इसके लिए उन्हें केंद्र के फ़ैसले का इंतज़ार है।

इधर हिमाचल प्रदेश सरकार ने अपने दो ज़िलों में लॉकडाउन की जगह कर्फ़्यू का आदेश जारी किया है।


इस प्रकार सम्पूर्ण देश में अलग अलग शर्तों के साथ Lockdown 5:  लॉकडाउन-5 की तैयारी की कवायत शुरू हो चुकी है।


 इसे भी पढ़ें - PM Modi Speech : पीएम मोदी ने की 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' की घोषणा, 20 लाख करोड़ का पैकेज

No comments