सर्गेई ब्रिन और लैरी पेज की सफल जुगलबंदी

24 total views, 1 views today

दुनिया में जितनी भी वेबसर्च होती हैं, उनमें से 65 प्रतिशत गूगल पर होती हैं। गूगल के दस हजार कंप्यूटर 100 भाषाओं में वेबपेज सर्च करते हैं। 2011 से गूगल ने गूगल वोइस सर्च भी शुरू कर दी हैं। बहरहाल, सर्जेई ब्रिन और लैरी पेज ने जब वेब की दुनिया का सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन गूगल बनाया था तो उनका हाल भी पियेर ओमिद्यार जैसा था। उन्होंने भी यह काम बिजनेस करने के लिए नहीं, बल्कि शौक – शौक में किया था।

आगे ये भी पढ़ें: फ्रेड स्मिथ का सफलता के अलग अंदाज

 

सर्जेई ब्रिन और लैरी पेज वेबपेज की एक बहुत बड़ी समस्या को दूर करना चाहते थे। इन्टरनेट पर वेबसर्च में दिक्कत यह होती हैं कि सर्च इंजन हजारों लाखों रिजल्ट खोज लेता हैं, लेकिन लोग अक्सर पहले 10,000 परिणामों पर ही नज़र डालते हैं। पूरे रिजल्ट देखने में तो कई दिन का समय लग सकता हैं और कई व्यक्ति के पास इतना समय नहीं होता हैं।

 

वेब के विस्तार के साथ – साथ रिजल्ट्स के वेब पेजेज की संख्या भी बढती जा रही हैं। ब्रिन और पेज ने सर्च इंजन को आदर्श बनाने पर ध्यान केन्द्रित किया, जिसका मतलब यह था कि सर्च करने वाले को मनचाही सामग्री पहले दस रिजल्ट्स में ही मिल जाए।

आगे ये भी पढ़ें: हेनरी फोर्ड महान लोगों की महान सोच

 

अपने सर्च इंजन का आविष्कार करने के बाद पेज और ब्रिन इसे बेचने का प्रस्ताव लेकर बड़ी – बड़ी कंपनियों के पास गए। जब कोई बड़ी कंपनी इसे खरीदने को तैयार नहीं हुई, तो 7 सितम्बर 1998 को उन्होंने खुद अपनी कंपनी बना ली। उन्होंने अपनी वेबसाईट पर कम से कम ग्राफ़िक्स रखे, ताकि रिजल्ट्स जल्दी से स्क्रीन पर आ जाएं और लोगों को इंतज़ार न करना पड़े। इसी कारण उन्होंने तस्वीरों वाले विज्ञापन के बजाय सिर्फ शब्दों वाले विज्ञापन पर जोर दिया।

 

ग्राहकों की सुविधा पर केन्द्रित होने के कारण सन 2000 तक गूगल दुनिया का सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन बन गया और और इसके पास एक अरब वेब पेजेज की इंडेक्स हो गयी। गूगल की स्थापना करके इन दोनों दोस्तों ने इन्टरनेट के क्षेत्र में क्रान्ति कर दी और जब गूगल कंपनी का शेयर सितम्बर 2004 में शेयर बाजार में सूचीबद्ध हुआ, तो सर्जेई ब्रिन और लैरी पेज तत्काल अरबपति बन गए। आज सर्जेई ब्रिन और लैरी पेज में से प्रत्येक के पास 18.7 अरब डॉलर की संपत्ति हैं और वे फ़ोर्ब्स पत्रिका की दुनिया के अमीरों की सूची में 24 वें स्थान पर हैं।

आगे ये भी पढ़ें: अनीता रोडिक के लाइफ की सफल कहानी

admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.