ज्याँ – क्लाड डेकॉक्स ने स्ट्रीट फर्नीचर की दुनिया पर राज किया

11,082 total views, 1 views today

ज्याँ – क्लाड डेकॉक्स ने स्ट्रीट फर्नीचर पर विज्ञापन करने का नया विचार सोचा और उस पर अमल किया। उसी का नतीजा हैं कि आज जेसी डेकॉक्स एस. ए. का स्ट्रीट फर्नीचर दुनिया के 54 देशों के 4000 से अधिक शहरों में पहुँच चुका हैं।

 

2010 में उनकी कंपनी ने 2.35 अरब यूरो की आमदनी की, जिसका अधिकाँश हिंस्सा विज्ञापन से मिला था। 165 हवाई अड्डों पर अपने व्यवसाय का सिक्का जमाने वाली जेसी डेकॉक्स कंपनी स्ट्रीट फर्नीचर के क्षेत्र में दुनिया में पहले स्थान पर हैं।

आगे ये भी पढ़ें: आसान रास्ते से आप कभी कामयाब नहीं हो सकते

 

ज्याँ – क्लाड डेकॉक्स युवावस्था में पेरिस की इमारतों पर विज्ञापन चिपकाकर अपनी रोजी – रोटी कमाते थे। बहरहाल, जब स्थानीय सरकार ने इस काम को गैर – कानूनी घोषित कर दिया, तो उनका काम – धंधा बंद हो गया। तब डेकॉक्स के दिमाग में एक बेहतरीन विचार आया, एक ऐसा विचार, जिससे वे विज्ञापन भी चिपका सके और शहर की सुन्दरता को भी बढ़ा सके।

 

डेकॉक्स को यह प्रेरणा 1964 में एक तूफानी दिन को मिली, जब उन्होंने देखा कि लोग सिटी बस की आने का इंतज़ार करते समय भींग रहे थे। उन्होंने सोचा, क्यों न लोगों के लिए मुफ्त में बस शेल्टर्स बनाएं जाय और बदले में सिर्फ उन पर विज्ञापन बेचने का अधिकार माँगा जाय?

 

आगे ये भी पढ़ें: कभी भी खुद की तुलना दूसरे से ना करें

 

वे अपना प्रस्ताव लेकर ल्यौन के मेयर के पास गए और उन्हें इसकी अनुमति मिल गयी। उस बारिश वाले दिन से दुनिया की सबसे बड़ी स्ट्रीट फर्नीचर कंपनी जैसे डेकॉक्स की शुरुआत हुई।

 

कंपनी बस शेल्टर्स तक ही सीमित नहीं रही, बल्कि इसने सार्वजनिक सूचना के नोटिस बोर्ड, ट्रैफिक सिग्नल, बिजली के खम्भों, कूड़ेदानों, बेंचों और पब्लिक टॉयलेट्स तक विस्तार किया। इसने हवाई अड्डों, शॉपिंग मॉल और सेंटर्स में भी यह काम करना शुरू कर दिया।

आगे ये भी पढ़ें: दूसरों का भला करने से अपना भला खुद हो जायेगा

 

1981 में जेसी डेकॉक्स ने आटोमेटिक पब्लिक टॉयलेट का आविष्कार किया, जिससे टॉयलेट अपने आप साफ़ हो जाता था। उसका पेटेंट हासिल करने के बाद उनकी तरक्की की रफ़्तार और तेज हो गयी। डेकॉक्स परिवार के पास आज कुल 4.9 अरब डॉलर की संपत्ति हैं और इसका नाम दुनिया के अमीरों की सूची में 216 वें स्थान पर हैं।

admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.