Spleen growth

तिल्ली वृद्धि के घरेलू चिकित्सा

10,093 total views, 0 views today

कारण

लम्बे समय तक जब रोगी टायफाइड , मलेरिया , कालाज्वर आदि रोगों से पीड़ित रहता हैं , तो उसकी तिल्ली (प्लीहा) भी दूषित हो जाती हैं , उसका आकार बढ़ जाता हैं और वह कड़ी हो जाती हैं। प्लीहा वृद्धि के कारण रोगी की पाचन क्रिया व रक्त शोधन की क्रिया प्रभावित हो जाती हैं।

लक्षण

बाईं ओर की पसलियों के नीचे बढी हुई तिल्ली गांठी के रूप में महसूस होती हैं , जिसे छूने पर दर्द होता हैं। भूख में कमी , शरीर और चेहरे पर पीलापन , पेट का फूलना , कमजोरी , बेचैनी आदि।

घरेलू चिकित्सा

सम्बंधित रोग की चिकित्सा करें , जिसके चलते प्लीहा वृद्धि हुई हो। इसके अतिरिक्त प्लीहा वृद्धि हेतु अलग से निम्न चिकित्सा करें :

  • 5 ग्राम अनार के पत्ते और उसमें 1 ग्राम नौसादार पीसकर एक – एक चमच्च सुबह – शाम गर्म पानी के साथ दें।
  • मूली काटकर , उस पर नौसादार छिड़ककर रात को खुले में रखें और सुबह खाली पेट खाएं।
  • प्याज काटकर उस पर सेंधानमक , काली मिर्च और सिरका डालकर लें। छोटी पिप्पल का एक चमच्च चूर्ण हरड़ के 4 चमच्च काढ़े के साथ या गाय के दूध के साथ सुबह – शाम दें।
  • हल्दी का आधा ग्राम चूर्ण पुराने गुड़ के साथ सुबह – शाम दें।
  • आक की एक कोंपल गुड़ के साथ सुबह खाली पेट दें। पलाश के पत्तों पर सरसों का तेल लगाकर तिल्ली के ऊपर बांधें।
  • पके हुए पपीते पर 1 ग्राम नौसादार डालकर दिन में एक बार रोगी को खिलाएं।
  • करेले का रस सुबह – शाम , दो – दो चमच्च दें।
  • अधपका पपीता छीलकर , उसके टुकड़े करके सिरके में एक सप्ताह तक पड़े रहने दें। एक सप्ताह के बाद 50 ग्राम की मात्रा में रोज खिलायें।
  • सुबह – शाम 1 चमच्च शहद के साथ पाव भर पपीता खाएं।
  • 100 ग्राम आम के रस में आधा चमच्च सोंठ मिलाकर सुबह खाली पेट खिलाएं।

 

नोट: बताये हुए बिधि को यूज़ करते रहे आपको फायदा अवश्य मिलेगा, और फिर भी मन में कोई संकोच है, तो एक बार डॉक्टर की परामर्श अवश्य लें. हमारे लेटेस्ट जानकारी के पोस्ट को इसी तरह पढ़ते रहे और फायदा प्राप्त करते रहें।

admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.