फ्रेड स्मिथ का सफलता के अलग अंदाज

24 total views, 1 views today

ओवरनाइट पैकेज डिलीवरी के पितामह फ्रेड स्मिथ का जन्म 11 अगस्त 1944 को हुआ। येल यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र की क्लास में स्मिथ ने एक टर्म पपेर पर विस्तार से लिखा कि ओवरनाइट पैकेज डिलीवरी के व्यवसाय में सफलता की बहुत ज्यादा संभावना हैं और उसे किस तरह से संचालित किया जा सकता हैं और उसे किस तरह से संचालित किया जा सकता हैं।

आगे ये भी पढ़ें: चेहरे को दूध के सामान चमकाने वाला ये कुछ शानदार फेस पैक

 

उन्होंने एक नवीन अवधारणा रखी, जिसमे हब एंड स्पोक्स सिस्टम पर आधारित पैकेज डिलीवरी सिस्टम का विचार दिया गया। उन्होंने तर्क दिया कि यात्री – मार्ग डाक सेवा के लिए उपयुक्त नहीं हैं और यह दावा किया कि हवाई डाक सेवा तभी लाभदायक हो सकती हैं , जब यात्रियों के बजाय डाक के पार्सलों पर ध्यान दिया जाय। उन्हें उस पेपर में c ग्रेड मिला।

 

प्रोफेसर ने फ्रेड स्मिथ को समझाया कि उनका विचार यथार्थवादी नहीं हैं, क्योंकि इसमें बहुत पूंजी की जरूरत होगी और बड़ी एयरलाइनों से प्रतियोगिता करनी पड़ेगी, जो पहले से ही यात्री – मार्गों पर पैकेज डिलीवरी कर रही हैं। बहरहाल, फ्रेड स्मिथ अपने प्रोफेसर के तर्कों से सहमत नहीं हुए।

आगे ये भी पढ़ें: किसी की आलोचना करने में समय व्यर्थ न गवाएं

 

फ्रेड स्मिथ की अवधारणा यह थी कि रात को विशेष डाक विमान चलाएं जाय, क्योंकि रात को हवाई अड्डों पर भीड़ कम रहती हैं। इसमें छोटे और उच्च प्राथमिकता वाले पैकेट रखे हो, जिनमें डिलीवरी की गति लागत से ज्यादा महत्वपूर्ण हो।

 

हवाई जहाज हर जगह से पैकेट लेकर केन्द्रीय जगह पर आएं, जहां विशेष रूप से बनाए गए कंप्यूटर कार्यक्रम के आधार पर पैकेटो को छांटकर दोबारा अलग – अलग जगह जाने वाले हवाई जहाज़ों में लादकर उनके गंतव्य स्थल तक पहुंचाए जाए।

आगे ये भी पढ़ें: बहुत ज्यादा देर सोचने में ना बिताये, उस पर काम करें

 

फ्रेड स्मिथ ने इसी विचार के दम पर फ़ेडरल एक्सप्रेस की स्थापना की, जिसका कारोबार आज पूरे संसार में फैला हुआ हैं। जाहिर हैं, यह काम उनकी लिए आसान नहीं था देश के हर कोने से पैकेट लेकर उन्हें एक केन्द्रीय स्थान पर इकठ्ठा करना और फिर रातोरात गंतव्य स्थल तक पहुंचाना बड़ा मुश्किल तथा खर्चीला काम था।

 

लेकिन फ्रेड ने यह चुनौती स्वीकार की और बहुत ही जटिल नेटवर्किंग सिस्टम विकसित किया, जिसमें हवाई जहाज से पैकेज डिलीवरी शामिल थी। फ़ेडरल एक्सप्रेस ने व्यवसाय की दुनिया में क्रान्ति कर दी, क्योंकि अब महत्वपूर्ण दस्तावेज रातोरात एक जगह से दूसरी जगह पर पहुँचने लगे। फ्रेड स्मिथ को शुरुआत में बहुत संघर्ष करना पडा, लेकिन बाद में उन्हें इतनी सफलता मिली, जिसकी उन्होंने कल्पना भी नहीं की थी।

आगे ये भी पढ़ें: समस्या का चुनाव हमेशा अपने से बड़े करें

 

आज फ़ेडरल एक्सप्रेस के संस्थापक फ्रेड स्मिथ संसार के अमीरों की सूची में 601 वें स्थान पर हैं और उनके पास 2.1 अरब डॉलर की संपत्ति हैं। वे इतना ज्यादा सफल इसलिए हुए, क्योंकि उन्होंने उस अवसर को देख लिया था, जिसे कोई और नहीं देख पाया था। 2010 में फ़ेडरल एक्सप्रेस की बिक्री 34.734 अरब डॉलर थी और मुनाफा 1.184 अरब डॉलर।

 

यह हर दिन 45 लाख पैकेज पहुंचाता हैं। इसका कारोबार २२० देशों में फ़ैल चुका हैं और इसमें 2,90,000 कर्मचारी काम कर रहे हैं। इनके पास 692 हवाई जहाज और 45000 मोटर वाहन हैं। आज फ़ेडरल एक्सप्रेस सचमुच वात्व्रिक्ष बन चुका हैं।

admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.