योग्यता – ज्ञान से भरपूर हिंदी कहानी

10 total views, 1 views today

प्रेम ह्रदय का अमृत हैं। प्रेम जीवन को रसमय बनाता हैं। प्रेम ह्रदय वाला व्यक्ति सभी को अपना बना लेता हैं। प्रेमशून्य व्यक्ति कोमलता से रिक्त होता हैं। कोमलता ह्रदय का अनिवार्य गुण हैं। कोमल – ह्रदय व्यक्ति ही परस्पर व्यवहारिक जीवन को सुखमय बनाते हैं। सुखमय संसार के निर्माण के लिए वेद में मनुष्यों को परस्पर प्रेमपूर्ण होने का निर्देश देते हुए कहा गया हैं –

एक दुसरे को इस प्रकार प्रेम करो जैसे गौ अपने बछड़े को करती हैं।

एक बार खलीफा हजरत उमर ने एक व्यक्ति को ‘ श्याम ‘ देश का गवर्नर नियुक्त किया। उसे नियुक्ति – पत्र भी दे दिया गया। अभी वह नवनियुक्त गवर्नर वहीँ था की एक नन्हा – सा बालक वहाँ आ गया। हजरत उमर ने उस बालक को गोद में उठा लिया और उसके धुल – धूसरित वस्त्रों की परवाह न करते हुए वे उससे प्यार करने लगे।

खलीफा को इस प्रकार उस बालक से प्रेम करते हुए देखकर उस नवनियुक्त गवर्नर ने कहा – महोदय ! मेरे आठ पुत्र हैं। लेकिन मैंने कभी उन्हें अपनी गोद में नहीं उठाया।

उसकी बात सुनकर हजरत उमर कुछ गंभीर हो गए और बोले – अपना नियुक्ति – पत्र मुझे दीजिये। उस व्यक्ति ने वह पत्र हजरत को दे दिया। हजरत ने उस पत्र को फाड़ कर फेंक दिया और कहा – जो व्यक्ति अपने बच्चों से भी मोहब्बत नहीं कर सकता , वह लोगों का क्या भला कर सकता हैं ? तुम इस योग्य नहीं हो की तुम्हें गवर्नर का महत्वपूर्ण पद दिया जाय।

admin

आपने कीमती समय देकर ब्लॉग पढ़ा धन्यबाद, ये पोस्ट आपको पसंद आया हो तो शेयर करना न भूले, ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, अपना विचार जरूर लिखे, इससे हमें और ज्यादा अच्छी और लेटेस्ट जानकारियाँ लिखने के लिए प्रेरित करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.